25.1 C
Khagaria
Thursday, September 21, 2023
बड़ी खबरें :

ससुराल से महज 5 सौ मीटर की दूरी से पीछे पहुंचे मिथिलेश की सड़क दुर्घटना में हुई मौत,मचा कोहराम, जानें

ससुराल से महज 5 सौ मीटर की दूरी से पीछे पहुंचे मिथिलेश की सड़क दुर्घटना में हुई मौत

JNA.मनोहर कुशवाहा

छौड़ाही,खगडिय़ा। ससुराल पहुंचने से महज 5 सौ मीटर की दूरी तय करने से पूर्व ही युवक की सड़क दुघर्टना में हुई दर्दनाक मौत।

घटना के संबंध में सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार बताया जाता है कि छौड़ाही थाने के अंतर्गत पतला गांव के निकट बाइक सवार एक युवक को अज्ञात चार चक्का वाहन धक्का मार कर फरार हो गया।बुरी तरह से घायल युवक को स्थानीय लोगों ने आस-पास के चिकित्सक के यहां ले गए,जहां चिकित्सक ने मृत घोषित किया।

घटना के संबंध में लोगों ने बताया कि चौफेर गांव अपने ससुराल जा रहे युबक की दर्दनाक मौत उस समय हो गयी,जब वह अपने ससुराल चौफेर गांव पहुंचने से महज 5 सौ मीटर ही पीछे था।ठोकर मारने वाला कोई चार चक्का वाहन था,जो धक्का मारकर भागने में सफल रहा।

मृतक युवक की पहचान बखरी प्रखंड अन्तर्गत राटन गांव के वार्ड 12 स्थित चक्करघट्टी गांव निवासी (राटन स्कूल के पीछे) दिनेश महतों का पुत्र मिथिलेश महतों के रूप में हुई है।स्पॉट डेथ हुए मिथिलेश अपने पीछे एक ढाई साल का लड़का को छोड़कर चले गए हैं।

जैसे ही मृतक के परिजनों को मौत की सूचना मिली हर कोई स्तब्ध रह गया एवं आश्रितों के चीत्कार से इलाके का माहौल गमगीन हो गया।

Previous article
Next article
काश 2000 नोट की तरह! हरियाणा सरकार का पुलिस की तोंद का लेकर हुआ ऐलान फिटनेस कर लेवे पुलिस जवान ==================== Pushpa Bhati journalist Blogger. Jaipur in Rajasthan. 76900078 76 पीएम मोदी दवारा अचानक रातो -रात नोट बंदी घोषणा की तरह काश बदल दे— उन चंद लोगो के उल्टे ख्वाबो को जो उच्चे ओहदे पाकर, सफेद पोश पहन बुरे ख्याल रखते है, अन्य बहू बेटियो पर । अत्याचार बलात्कार को खुदा का दिया हुआ तोहफा समझ नोटो के बलपर – -नही मुजरिम करार होते है ! घूमते – फिरते बेशर्म सरेआम है !! लो ! तो —- फिर ! क्या मतलब हुआ सख्त कानून का ! *रातों-रात कोडियो के भाव हो जाते है करोड़ो के शेअर* ! क्यों नहीं दंडित हो सकते है, वो लोग जो बेवजह भारतीय संस्कृति का अपमान करते है ,! वर्तमान सख्त कानून की राहे भी इतनी मुश्किल हो चुकी है -जो कि सच तो यह है कि सही मायने में कानून – कानून की किताब से दूर होकर रह जाता है । *नेकी कर दरिया में डाले* ! प्रतिबंधता नतीजा शून्य !! – कुछ मुकर्रर गए, कुछ छुप गए। कुछ उड़ान भर गए असली गुनाहगार का चेहरा ओझल ! समाचार पत्र प्रकाशित करने वालो को ललकार गये कि — क्या मिला तुम्हे !! वो तो नोटो के बंडल ले गई। क्रोधित होकर कलम भी कोसती है ——फिर भी कलम के माध्यम से एक संपादक आज की दुनिया मे नई सोच की उम्मीद रखता है। भारत में धारा 376 के केसो की बढ़ती हुई तादाद को देखकर । राष्ट्रीय दैनिक समाचार दि ग्राम टुडे की टीम ने सर्वे किया तो , कुछ जनता के सुझाव भी निकल कर सामने आये है वो वर्णित है । सर्वे जानकारी के मुताबिक 70 % लोगो का यह कहना है कि – विशेषकर महिलाओ द्वारा दर्ज करवाऐ जाने वाले बलात्कार संबधित मुकदमो की रिपोर्ट पुलिस थाने में दर्ज नही होकर पहली प्राथमिकता इंटेलिजेंस में होनी चाहिए । पहले पीड़िता द्वारा मुकदमा दर्ज करवा, लेना बाद में चंद नोटो की खातिर बिक जाना यह कहां कि बुद्धिमता है ! क्या यह सब भारतीय संस्कृति का घोर अपमान नहीं है ? कब तलक भारतीय संस्कृति इन बेहिया लोगो पर कुर्बानी देती रहेगी। -आखिरकार ! संस्कृति भारत की आत्मा है काश ऐसा भी रातों-रात कोई पीएम घोषणा करे दे कि भारत देव भूमि की संस्कृति को कोई – लज्जित न करे । सुश्री पुष्पा भाटी पत्रकार एकता संघ वरिष्ठ जर्नलिस्ट ब्लोग्गर्स प्रदेश उपाध्यक्ष NCCHWO NATIONAL MEDIA PARBHARI. — 76900078 76
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

POPULAR NEWS

spot_img

Recent Comments

Manohar on *स्वर्गीय पासवान की स्मृति और आदर्श सदैव प्रेरणादायक:शास्त्री* खगड़िया, 26 अक्तूबर 2022 सदर प्रखण्ड के रानीसकरपुरा निवासी पूर्व जिला परिषद् प्रत्याशी व जदयू नेता समाजसेवी स्मृतिशेष दिवंगत राजेश पासवान के याद में रानीसकरपुरा पंचायत के वार्ड नं 01 स्थित सुशिला सदन के परिसर में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।जिसकी अध्यक्षता स्थानीय पंसस प्रतिनिधि रवि कुमार पासवान ने की।जबकि मंच संचालन डॉ0 मनोज कुमार गुप्ता ने किया।सर्वप्रथम उपस्थित अतिथियों तथा शुभचिंतकों के द्वारा उनके तैलचित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर नमन करते हुए श्रद्धांजलि दी गई। मौके पर जदयू के जिला प्रवक्ता आचार्य राकेश पासवान शास्त्री ने कहा कि स्वर्गीय राजेश पासवान की मधुर स्मृति, स्नेह,आदर्श, मार्गदर्शन एवं उनके आशीर्वाद हमसबों के लिए सदैव प्रेरणादायक रहेंगे।उन्होंने कहा कि जब कभी भी बरैय और रानीसकरपुरा पंचायत के राजनीतिक व सामाजिक कार्यों में बेहतर भूमिका निभाने वालों की चर्चा होगी तो उसमें स्वर्गीय पासवान का नाम श्रद्धापूर्वक लिया जाएगा। इस अवसर पर रामपुकार पासवान, रामविलाश पासवान, रामदेव पासवान, चन्दर पासवान, अरूण पासवान, जदयू नेत्री ईशा देवी, रीना देवी, बिभा कुमारी,राजीव पासवान, अमित पासवान, सरोज पासवान, विजय पासवान, जितेन्द्र पासवान, दीपक कुमार, हरिवंश कुमार, अभिषेक कुमार, वार्ड सदस्या सुशीला देवी,अनोज कृष्ण,चिराग व बिक्रम कुमार आदि दर्जनों गणमान्य लोग उपस्थित थे
MAKE YOUR OWN WEBSITEJust in 15 minutes!

Don't miss our "End of year 2022 offer".  Avail 20% off on our selected products.