33 C
Khagaria
Wednesday, July 24, 2024
बड़ी खबरें :

राजस्थान सरकार 1.33 करोड़ महिलाओ को स्मार्ट फोन देकर, -क्या ? सरकार उनका खिंचाव रोज़गार की ओर लाना चहाती है , -या फिर कोई नया दाॅव खेलना चहाती है . __________________________ Pushpa Bhati journalist. Blogger. Jaipur in Rajasthan. गहलोत सरकार के बेनर तले— चिरंजीवी परिवारो की महिलाओ को नि:शुल्क स्मार्टफोन के साथ 3 साल तक इन्टरनेट डेटा फ्री स्कीम की कवायद शुरू हो चुकी है -. दूसरी ओर देखा जाए तो गहलोत सरकार चुनावी मोड़ पर है , तीन साल बाद महिलाए कब ,कहां से, कैसे फ्री इन्टरनेट उपलब्ध करवा पाऐगी यह विचारणीय मुद्दा है । महिलाओ के लिए अच्छी सोच रखना अच्छे फैसले लेना प्रत्येक सरकार का कर्तव्य होता है ,पर अनुकूल वातावरण व परिस्थितियो में लिये गए फैसले कभी तकलीफ नही देते है , वो इल्म न जाने, वो इल्म खाने की चाबी सौंप गए । मै एक पत्रकार हूं आऐ दिन टीवी पर व अखबार की सुर्खिया में गहलोत सरकार की स्मार्टफोन फोन की कवायद तेज को देखते ,पढ़ते हुए मैने चिरंजीवी परिवार की महिला से स्मार्टफोन को लेकर खुशी जताई तो , उसने बड़े ही रूआसे भाव में जवाब देते हुए कहा- “सगला टाबर तो भूखा मरण लाग रहैया- मै फोन बजाती फिरा” अब आप खुद ही महिला द्वारा कही गई बात से अन्दाजा लगा सकते है कि महिलाए को स्मार्ट फोन से कितना फायदा होने वाला है. सरकार उन्हे तोहफे में रोजगार देने के बजाय सहुलियत के तौर पर तीन साल डाटा फ्री देकर, -बाकि साल इंतजार नही — दुबारा लाओ ,दुबारा पाओ की स्कीम दे रही है , सरकार का यह तरीका कितना उचित रहेगा, क्या फोन पाने वाली महिलाओ के लिए तीन साल बाद इन्टरनेट डेटा फ्री के लिए कोई विकल्प बच पायेगा या फिर गहलोत सरकार की सहयोगी बनकर रह जाऐगी, अगर हां ऐसा होता है तो 1 करोड़ 33 लाख चिरंजीवी परिवार की मुख्य महिला गहलोत सरकार के फैंसले से खुश रहती है तो एक परिवार में कितने लोग-वोट होते है ये आप सब बखूबी से जानते हो वाकई ही इतिहास के पन्नो पर पांच साल बाद अदली-बदली वाली सरकार के खेल को विराम चिन्ह लग सकता है । अब देखना ये होगा कि गहलोत सरकार दवारा 1.33 लाख चिरंजीवी परिवार की महिला मुखिया को खुश करने में गहलोत सरकार के ये तोहफे कितने मायने रखते है। क्या आज के जमाने में इस बात का आभास होना बहुत जरूरी है .नारी शक्ति को आत्मनिर्भर बनाने की योजना है ,फिर सरकार को धरातल पर उतराने के परियोजना है। बेरोज़गार महिलाओ को रोजगार मुहैय्या करवा पाने मे गहलोत सरकार खरी उतर पाऐगी या फिर– सच्चाई लिखने से मेरी कलम मुझे अटकाती नही ,रेत पर भवन नही बनाए जा सकते है, मजबूत फैसले मजबूती पैदा करते है, शोर मचाने से कोई कार्य मंगल नही हो सकता है , सुना है ,आजकल आलीशान ब॔गले को गिराने मे भी लोग वक्त नही लगाते है , ये ज्योतिषी विधा का जमाना है । Pushpa Bhati journalist. Blogger. Jaipur in Rajasthan. 7690007876

  • राजस्थान सरकार 1.33 करोड़ महिलाओ को स्मार्ट फोन देकर,
    -क्या ? सरकार उनका खिंचाव रोज़गार की ओर लाना चहाती है , -या फिर कोई नया दाॅव खेलना चहाती है .
    __________________________
    Pushpa Bhati journalist. Blogger. Jaipur in Rajasthan.
    गहलोत सरकार के बेनर तले— चिरंजीवी परिवारो की महिलाओ को नि:शुल्क स्मार्टफोन के साथ 3 साल तक इन्टरनेट डेटा फ्री स्कीम की कवायद शुरू हो चुकी है -. दूसरी ओर देखा जाए तो गहलोत सरकार चुनावी मोड़ पर है , तीन साल बाद महिलाए कब ,कहां से, कैसे फ्री इन्टरनेट उपलब्ध करवा पाऐगी
    यह विचारणीय मुद्दा है ।
    महिलाओ के लिए अच्छी सोच रखना अच्छे फैसले लेना प्रत्येक सरकार का कर्तव्य होता है ,पर अनुकूल वातावरण व परिस्थितियो में लिये गए फैसले कभी तकलीफ नही देते है , वो इल्म न जाने, वो इल्म खाने की चाबी सौंप गए ।
    मै एक पत्रकार हूं आऐ दिन टीवी पर व अखबार की सुर्खिया में गहलोत सरकार की स्मार्टफोन फोन की कवायद तेज को देखते ,पढ़ते हुए मैने चिरंजीवी परिवार की महिला से स्मार्टफोन को लेकर खुशी जताई तो , उसने बड़े ही रूआसे भाव में जवाब देते हुए कहा- “सगला टाबर तो भूखा मरण लाग रहैया- मै फोन बजाती फिरा” अब आप खुद ही महिला द्वारा कही गई बात से अन्दाजा लगा सकते है कि महिलाए को स्मार्ट फोन से कितना फायदा होने वाला है. सरकार उन्हे तोहफे में रोजगार देने के बजाय सहुलियत के तौर पर तीन साल डाटा फ्री देकर, -बाकि साल इंतजार नही — दुबारा लाओ ,दुबारा पाओ की स्कीम दे रही है , सरकार का यह तरीका कितना उचित रहेगा, क्या फोन पाने वाली महिलाओ के लिए तीन साल बाद इन्टरनेट डेटा फ्री के लिए कोई विकल्प बच पायेगा या फिर गहलोत सरकार की सहयोगी बनकर रह जाऐगी, अगर हां ऐसा होता है तो
    1 करोड़ 33 लाख चिरंजीवी परिवार की मुख्य महिला गहलोत सरकार के फैंसले से खुश रहती है तो एक परिवार में कितने लोग-वोट होते है ये आप सब बखूबी से जानते हो वाकई ही इतिहास के पन्नो पर पांच साल बाद अदली-बदली वाली सरकार के खेल को विराम चिन्ह लग सकता है । अब देखना ये होगा कि गहलोत सरकार दवारा 1.33 लाख चिरंजीवी परिवार की महिला मुखिया को खुश करने में गहलोत सरकार के ये तोहफे कितने मायने रखते है।
    क्या आज के जमाने में इस बात का आभास होना बहुत जरूरी है .नारी शक्ति को आत्मनिर्भर बनाने की योजना है ,फिर सरकार को धरातल पर उतराने के परियोजना है। बेरोज़गार महिलाओ को रोजगार मुहैय्या करवा पाने मे गहलोत सरकार खरी उतर पाऐगी या फिर–
    सच्चाई लिखने से मेरी कलम मुझे अटकाती नही ,रेत पर भवन नही बनाए जा सकते है, मजबूत फैसले मजबूती पैदा करते है, शोर मचाने से कोई कार्य मंगल नही हो सकता है , सुना है ,आजकल आलीशान ब॔गले को गिराने मे भी लोग वक्त नही लगाते है , ये ज्योतिषी विधा का जमाना है ।
    Pushpa Bhati journalist. Blogger. Jaipur in Rajasthan. 7690007876
यह भी पढ़ें :  गुरु हमें जीवन के महानतम उद्देश्य की ओर ले जाने का मार्ग दिखाते हैं- डॉ. अर्चना श्रीवास्तव / जे पी शर्मा

सम्बन्धित खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें

spot_img

आपके विचार

Manohar on *स्वर्गीय पासवान की स्मृति और आदर्श सदैव प्रेरणादायक:शास्त्री* खगड़िया, 26 अक्तूबर 2022 सदर प्रखण्ड के रानीसकरपुरा निवासी पूर्व जिला परिषद् प्रत्याशी व जदयू नेता समाजसेवी स्मृतिशेष दिवंगत राजेश पासवान के याद में रानीसकरपुरा पंचायत के वार्ड नं 01 स्थित सुशिला सदन के परिसर में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।जिसकी अध्यक्षता स्थानीय पंसस प्रतिनिधि रवि कुमार पासवान ने की।जबकि मंच संचालन डॉ0 मनोज कुमार गुप्ता ने किया।सर्वप्रथम उपस्थित अतिथियों तथा शुभचिंतकों के द्वारा उनके तैलचित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर नमन करते हुए श्रद्धांजलि दी गई। मौके पर जदयू के जिला प्रवक्ता आचार्य राकेश पासवान शास्त्री ने कहा कि स्वर्गीय राजेश पासवान की मधुर स्मृति, स्नेह,आदर्श, मार्गदर्शन एवं उनके आशीर्वाद हमसबों के लिए सदैव प्रेरणादायक रहेंगे।उन्होंने कहा कि जब कभी भी बरैय और रानीसकरपुरा पंचायत के राजनीतिक व सामाजिक कार्यों में बेहतर भूमिका निभाने वालों की चर्चा होगी तो उसमें स्वर्गीय पासवान का नाम श्रद्धापूर्वक लिया जाएगा। इस अवसर पर रामपुकार पासवान, रामविलाश पासवान, रामदेव पासवान, चन्दर पासवान, अरूण पासवान, जदयू नेत्री ईशा देवी, रीना देवी, बिभा कुमारी,राजीव पासवान, अमित पासवान, सरोज पासवान, विजय पासवान, जितेन्द्र पासवान, दीपक कुमार, हरिवंश कुमार, अभिषेक कुमार, वार्ड सदस्या सुशीला देवी,अनोज कृष्ण,चिराग व बिक्रम कुमार आदि दर्जनों गणमान्य लोग उपस्थित थे