35.1 C
Khagaria
Monday, June 24, 2024
बड़ी खबरें :

भारतीय नाई समाज द्वारा महान लोक गायक भिखारी ठाकुर का 135 वां जयंती समारोह काशिमपुर पंचायत के डारही आस में मना,जानें

महान लोक गायक भिखारी ठाकुर का नाई समाज द्वारा मनाया गया 135 वां जयंती समारोह

JNA.पी के ठाकुर

पत्रकार नगर,खगड़िया। भारतीय नाई समाज द्वारा महान लोक गायक भिखारी ठाकुर का 135 वां जयंती समारोह काशिमपुर पंचायत के डारही आस में मनाया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन प्रदेश उपाध्यक्ष उमेश ठाकुर, जिलाध्यक्ष श्रवण ठाकुर, प्रांतीय मीडिया प्रभारी सह जिला महामंत्री पांडव कुमार, उपाध्य्क्ष रितेश ठाकुर, देश बचाओ अभियान के संस्थापक अध्यक्ष किरणदेव यादव ,उप मुखिया प्रतिनिधि ललन कुमार ने संयुक्त रूप इस दीप प्रज्वलित एवं भिखारी ठाकुर के तैलीय चित्र पर माल्यार्पण व पुष्प अर्पित कर किया गया।कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष श्रवण ठाकुर व संचालन जिला महामंत्री पांडव कुमार ने किया।कार्यक्रम में प्रदेश उपाध्यक्ष उमेश ठाकुर ने कहा भिखारी ठाकुर को महान लोक गायक बताते हुए कहा वे समाज के लोगो को गीत व नाटक के माध्यम से जगाने व कुरीतियों के खिलाफ लड़ने का काम किया करते थे।

उनका जन्म 18 दिसम्बर 1887 को बिहार के सारन जिले के कुतुबपुर (दियारा) गाँव में एक नाई परिवार में हुआ था । एवं 10 जुलाई 1971 को 84 वर्ष की आयु में निधन हुआ था। भिखारी ठाकुर गीत व नाटक के माध्यम से देश में फैल रहे कुरीतियों का बहिष्कार करते थे। उन्हे भोजपुरी जगत का सेक्सपियर कहा जाता है।जिलाध्यक्ष श्रवण ठाकुर ने कहा भिखारी ठाकुर भोजपुरी के समर्थक लोक कलाकार, रंगकर्मी लोक जागरण के सन्देश वाहक, लोक गीत तथा भजन कीर्तन के साधक थे।उन्होंने भोजपुरी समाज मे फैली कुरीतियों , अंधविश्वास, वाल विवाह,बेमेल विवाह एवं स्त्री उत्पीड़न के विरुद्ध संघर्ष का माध्यम अपने नाटकों,गीतों तथा रचनाओं को बनाया। वे एक ही साथ कवि, गीतकार, नाटककार, नाट्य निर्देशक, लोक संगीतकार और अभिनेता थे। भिखारी ठाकुर की मातृभाषा भोजपुरी थी और उन्होंने भोजपुरी को ही अपने काव्य और नाटक की भाषा बनाया।जिला महामंत्री पांडव कुमार ने कहा भिखारी ठाकुर नव जागरण के वेहद लोकप्रिय कलाकार थे। उन्होंने दलित चेतना के लिए बहुत ही सराहनीय कार्य किये है।

यह भी पढ़ें :  जगह-जगह जिला मुख्यालयों में अंगिका भाषा की संवैधानिक मान्यता के लिए एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन,डीएम को सौंपा ज्ञापन सकलदेव जी ने कहा अंगिका समाज अंगिका एवं अंगिक लोगों की अस्मिता के लिए धरना

भिखारी ठाकुर जनता के कष्ट को समझते थे। उन्होंने कई गीत व सामाजिक नाटक किये जैसे बिदेशिया,भाई-बिरोध ,बेटी-बियोग या बेटि-बेचवा,कलयुग प्रेम, गबर घिचोर,गंगा स्नान (अस्नान),बिधवा-बिलाप,पुत्रबध, ननद-भौजाई,बहरा बहार, कलियुग-प्रेम,राधेश्याम-बहार, बिरहा-बहार,नक़ल भांड अ नेटुआ के आदि।किरणदेव यादव ने कहा भिखारी ठाकुर ने नाटय कला के माध्यम से दूर दूर क्षेत्र,प्रदेशों में जाकर कुंठित मानसिकता वाले समाज को जगाने का काम किये। भिखारी ठाकुर नाई जाति के थे और उनकी मंडली में शामिल ज्यादातर लोग छोटी जाती के थे।आज उनकी कला की सहजता से ही वो समाज के हर वर्ग के दिल दिमाग पर असर छोड़ रहे है।उपाध्यक्ष रितेश ठाकुर ने कहा लोक गायक भिखारी ठाकुर एक महान नाटककार समाजसेवी थे । जिन्होंने अपने नाटक के माध्यम से समाज के लिए कार्य किये उनके द्वारा किये गए कार्य को कभी भी भुलाया नही जा सकता। उन्होंने जाति हीं नही सभी सम्प्रदाय के लिए जागरूकता का कार्य किये।जगदीश ठाकुर, ललन ठाकुर, महेंद्र ठाकुर, किरणदेव ठाकुर, प्रमोद ठाकुर, अरविन्द ठाकुर, अखिलेश कुमार, अरविन्द ठाकुर, प्रेम कुमार, प्रिंस कुमार, विक्की कुमार, सीता देवी, रंजन देवी, आदि ने कहा हम ख़ुशक़िस्मद हे जो हम भिखारी ठाकुर के बंसज है, जिन्होंने नाई समाज व अन्य गरीब महिलाओ व समाज को जगाने व उत्पीड़न के खिलाफ जागरूक करने का कार्य किये है।
नाई समाज ने राज्य सरकार से मांग किया कि महान लोक गायक भिखारी ठाकुर के नाम से सभी जिलों में एक नाट्यमंच की स्थापना की जाय।

यह भी पढ़ें :  जगह-जगह जिला मुख्यालयों में अंगिका भाषा की संवैधानिक मान्यता के लिए एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन,डीएम को सौंपा ज्ञापन सकलदेव जी ने कहा अंगिका समाज अंगिका एवं अंगिक लोगों की अस्मिता के लिए धरना

सम्बन्धित खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें

spot_img

आपके विचार

Manohar on *स्वर्गीय पासवान की स्मृति और आदर्श सदैव प्रेरणादायक:शास्त्री* खगड़िया, 26 अक्तूबर 2022 सदर प्रखण्ड के रानीसकरपुरा निवासी पूर्व जिला परिषद् प्रत्याशी व जदयू नेता समाजसेवी स्मृतिशेष दिवंगत राजेश पासवान के याद में रानीसकरपुरा पंचायत के वार्ड नं 01 स्थित सुशिला सदन के परिसर में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।जिसकी अध्यक्षता स्थानीय पंसस प्रतिनिधि रवि कुमार पासवान ने की।जबकि मंच संचालन डॉ0 मनोज कुमार गुप्ता ने किया।सर्वप्रथम उपस्थित अतिथियों तथा शुभचिंतकों के द्वारा उनके तैलचित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर नमन करते हुए श्रद्धांजलि दी गई। मौके पर जदयू के जिला प्रवक्ता आचार्य राकेश पासवान शास्त्री ने कहा कि स्वर्गीय राजेश पासवान की मधुर स्मृति, स्नेह,आदर्श, मार्गदर्शन एवं उनके आशीर्वाद हमसबों के लिए सदैव प्रेरणादायक रहेंगे।उन्होंने कहा कि जब कभी भी बरैय और रानीसकरपुरा पंचायत के राजनीतिक व सामाजिक कार्यों में बेहतर भूमिका निभाने वालों की चर्चा होगी तो उसमें स्वर्गीय पासवान का नाम श्रद्धापूर्वक लिया जाएगा। इस अवसर पर रामपुकार पासवान, रामविलाश पासवान, रामदेव पासवान, चन्दर पासवान, अरूण पासवान, जदयू नेत्री ईशा देवी, रीना देवी, बिभा कुमारी,राजीव पासवान, अमित पासवान, सरोज पासवान, विजय पासवान, जितेन्द्र पासवान, दीपक कुमार, हरिवंश कुमार, अभिषेक कुमार, वार्ड सदस्या सुशीला देवी,अनोज कृष्ण,चिराग व बिक्रम कुमार आदि दर्जनों गणमान्य लोग उपस्थित थे