33.5 C
Khagaria
Monday, June 24, 2024
बड़ी खबरें :

जिला परिषद अध्यक्ष की अध्यक्षता में जिला परिषद की सामान्य बैठक आयोजित,

खगड़िया सदर : जिला परिषद अध्यक्ष श्रीमती कृष्णा कुमारी यादव द्वारा समाहरणालय सभाकक्ष में आहूत जिला परिषद खगड़िया की सामान्य बैठक की अध्यक्षता की गई। बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी सह अपर समाहर्ता मो० राशिद आलम एवं अपर मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी सह जिला पंचायती राज पदाधिकारी मो० फैयाज अख्तर भी उपस्थित थे। इस सामान्य बैठक में जिला परिषद के सभी निर्वाचित सदस्य, विभिन्न प्रखंडों के प्रमुख, उप प्रमुख के साथ सभी संबंधित जिला स्तरीय पदाधिकारी, तकनीकी विभागों के पदाधिकारी उपस्थित थे।जिला परिषद के सामान्य बैठक में मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी सह अपर समाहर्ता द्वारा सभी का स्वागत करते हुए गत बैठक के अनुपालन की समीक्षा प्रारंभ की गई। सर्वप्रथम गत सामान्य बैठक की कार्रवाई सुनाई गई एवं अनुपालन प्रतिवेदन की प्राप्ति की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान शिक्षा विभाग, विद्युत विभाग, स्वास्थ्य विभाग, कृषि विभाग, ग्रामीण कार्य विभाग, पथ निर्माण विभाग, पुल निर्माण विभाग, बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल, आपूर्ति विभाग, पशुपालन, खनन, सहकारिता, आईसीडीएस इत्यादि पदाधिकारी अनुपालन प्रतिवेदन के साथ बैठक में उपस्थित रहे।आज की सामान्य बैठक में समय की कमी को देखते हुए विशेष रुप से ग्रामीण कार्य विभाग, गोगरी एवं खगड़िया के साथ शिक्षा विभाग के कार्यों की समीक्षा की गई एवं शेष विभागों के कार्यों की विस्तृत समीक्षा हेतु आगामी माह के 25 एवं 26 तारीख को दो दिवसीय सामान्य बैठक आयोजित करने का प्रस्ताव सर्वसम्मति से पास किया गया, जिसमें अलग-अलग दिनों में अलग-अलग विभागों के कार्यों की समीक्षा प्रस्तावित है।आज की सामान्य बैठक में सर्वप्रथम ग्रामीण कार्य विभाग से प्रखंडवार जिला परिषद सदस्यों ने सड़क निर्माण, जर्जर सड़कों एवं पुलों की मरम्मत, नए पुलों के निर्माण, ग्रामीण सड़कों की गुणवत्ता की समस्या, सड़कों के निर्माण के प्राक्कलन और कार्य में देरी की समस्या, निर्माणाधीन पुल-पुलिया के निर्माण की स्थिति के बारे में जानकारी ली एवं सदन में उठाए गए मामलों को कार्यवाही में दर्ज करने का अनुरोध माननीय अध्यक्ष महोदय से किया। विभिन्न सड़कों के डीपीआर मुख्यालय को भेजने की बात कार्यपालक अभियंता द्वारा बताई गई। पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता से जिले के विभिन्न सड़कों के निर्माण की जानकारी दी गई। पुल-पुलिया के निर्माण के संबंध में बताया गया कि जिस संगठन/विभाग द्वारा सड़क का निर्माण किया जाता है, उसी के द्वारा उस रास्ते में पड़ने वाले पुल-पुलियों का निर्माण किया जाता है।माननीय अध्यक्ष द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा गया कि ग्रामीण कार्य विभाग के विभिन्न कार्यक्रमों में शिलान्यास के दौरान जिला परिषद अध्यक्ष को भी बुलाना सुनिश्चित किया जाए एवं शिलापट्ट पर उनका नाम भी अंकित रहे।शिक्षा विभाग से भवनविहीन विद्यालयों, शौचालय विहीन विद्यालयों, जर्जर भवन वाले विद्यालयों, विद्यालय में नए भवनों एवं अतिरिक्त कक्षाओं के निर्माण की स्थिति, प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालयों के उत्क्रमण, विद्यालय के जर्जर दीवारों की मरम्मत, अधूरे पड़े भवनों को पूरा करने, शिक्षकों की कमी, एक शिक्षक के सहारे चलने वाले विद्यालयों, लंबे समय से एक ही विद्यालय में पदस्थापित शिक्षकों के स्थानांतरण, मध्याह्न भोजन की गुणवत्ता की समस्या, मीनू के पालन न करने की समस्या, मृत शिक्षक के मुआवजा भुगतान, विद्यालय भवन में पुलिस बल के निवास करने, विद्यालयों के बंद रहने, शिक्षकों द्वारा नियमित रूप से विद्यालय ना जाना, प्रधानाचार्य द्वारा वित्तीय अनियमितता करने इत्यादि के संबंध में सदस्यों द्वारा मामले उठाए गए।सदस्यों द्वारा उठाए गए प्रश्नों के जवाब में जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि इस वर्ष इस वित्तीय वर्ष में किसी विद्यालय के भवन निर्माण हेतु राशि उपलब्ध नहीं है। विभिन्न विद्यालय के भवनों के निर्माण के लिए प्रस्ताव शिक्षा विभाग को भेजा गया है। राशि का आवंटन होने पर राज्य स्तर से ही निर्माण कार्य शुरू कराया जाएगा। शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति भी उनके स्तर से नहीं की जा सकती है, क्योंकि राज्य सरकार सने इसपर रोक लगाई है। नव नियोजित शिक्षकों को विभिन्न विद्यालयों में पदस्थापित किया गया है। अगले चरण के नियोजन में शिक्षकों की कमी को दूर करने का प्रयास किया जाएगा।माननीय अध्यक्ष द्वारा निर्देश दिया गया कि 2 विद्यालयों में छात्रों की संख्या समान होने की स्थिति में अगर एक विद्यालय में छात्र शिक्षक अनुपात की तुलना में अधिक शिक्षक हैं, तो अतिरिक्त शिक्षकों को शिक्षक की कमी वाले विद्यालयों में भेजा जाए। नियोजन के दौरान शिक्षकों की सही संख्या में नियुक्ति का प्रयास किया जाए।अगले माह में प्रस्तावित दो दिवसीय सामान्य बैठक के लिए विभाग बार एजेंडा पहले से तय करने और उसका अनुपालन प्रतिवेदन के साथ पदाधिकारियों को बैठक में भाग लेने का निर्देश माननीय अध्यक्ष द्वारा दिया गया। उन्होंने कहा कि जिस विभाग से अनुपालन प्रतिवेदन नहीं आएगा, उनके विरुद्ध कार्रवाई के लिए जिलाधिकारी को प्रतिबंधित किया जाएगा।माननीय अध्यक्ष ने कहा कि ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा के साथ सदस्यों की मांग पर विभिन्न मामलों की जांच के लिए कमेटी भी गठित की जाएगी। जिला परिषद सदस्यों द्वारा मांग की गई कि स्थलीय जांच के दौरान उन्हें भी उपस्थित रहने का मौका मिलना चाहिए। माननीय अध्यक्ष ने कहा कि जिस विभाग से संबंधित मामले में अनुपालन करने में दिक्कत आएगी, वहां उस विभाग के विभागीय मंत्री से मिलकर भी कार्रवाई कराई जाएगी।इस अवसर पर मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी अपर समाहर्ता ने जिला परिषद सदस्यों को बताया कि जिला परिषद के लिए विभिन्न योजनाओं की प्रशासनिक स्वीकृति का आदेश आ गया है। छठे वित्त आयोग की राशि, जो टाइड एवं अनटाइड फंड के रूप में प्राप्त हुई है, उसको जिला परिषद की परिसंपत्तियों का निर्माण के साथ उनके मरम्मत में व्यय किया जा सकेगा। उन्होंने जिला परिषद सदस्यों से 26 अक्टूबर तक 22 सड़क किया नाला के निर्माण का प्रस्ताव प्रस्तुत करने का अनुरोध किया।आज की सामान्य बैठक में जिला परिषद कार्यालय के भवन के ऊपर एक सभागार बनाने पर सभी सदस्यों द्वारा सहमति व्यक्त की गई। अध्यक्ष एवं पदाधिकारियों के लिए भाड़े पर वाहन रखने पर भी सहमति व्यक्त की गई। बैठक में भाग लेने के लिए सदस्यों को यात्रा भत्ता प्रदान करने एवं बैठक के लाइव प्रसारण कराने की मांग भी विभिन्न सदस्यों द्वारा उठाई गई। इस पर माननीय अध्यक्ष द्वारा जिला परिषद का पोर्टल बनाकर लाइव प्रसारण कराने पर सहमति व्यक्त की गई।बैठक के अंत में धन्यवाद ज्ञापित करते हुए माननीय अध्यक्ष ने निर्देश दिया कि सभी विभाग के पदाधिकारी बैठक में उठाए गए मामलों का अनुपालन करें और इससे जिला परिषद को अवगत कराएं।

यह भी पढ़ें :  जगह-जगह जिला मुख्यालयों में अंगिका भाषा की संवैधानिक मान्यता के लिए एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन,डीएम को सौंपा ज्ञापन सकलदेव जी ने कहा अंगिका समाज अंगिका एवं अंगिक लोगों की अस्मिता के लिए धरना

सम्बन्धित खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें

spot_img

आपके विचार

Manohar on *स्वर्गीय पासवान की स्मृति और आदर्श सदैव प्रेरणादायक:शास्त्री* खगड़िया, 26 अक्तूबर 2022 सदर प्रखण्ड के रानीसकरपुरा निवासी पूर्व जिला परिषद् प्रत्याशी व जदयू नेता समाजसेवी स्मृतिशेष दिवंगत राजेश पासवान के याद में रानीसकरपुरा पंचायत के वार्ड नं 01 स्थित सुशिला सदन के परिसर में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।जिसकी अध्यक्षता स्थानीय पंसस प्रतिनिधि रवि कुमार पासवान ने की।जबकि मंच संचालन डॉ0 मनोज कुमार गुप्ता ने किया।सर्वप्रथम उपस्थित अतिथियों तथा शुभचिंतकों के द्वारा उनके तैलचित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर नमन करते हुए श्रद्धांजलि दी गई। मौके पर जदयू के जिला प्रवक्ता आचार्य राकेश पासवान शास्त्री ने कहा कि स्वर्गीय राजेश पासवान की मधुर स्मृति, स्नेह,आदर्श, मार्गदर्शन एवं उनके आशीर्वाद हमसबों के लिए सदैव प्रेरणादायक रहेंगे।उन्होंने कहा कि जब कभी भी बरैय और रानीसकरपुरा पंचायत के राजनीतिक व सामाजिक कार्यों में बेहतर भूमिका निभाने वालों की चर्चा होगी तो उसमें स्वर्गीय पासवान का नाम श्रद्धापूर्वक लिया जाएगा। इस अवसर पर रामपुकार पासवान, रामविलाश पासवान, रामदेव पासवान, चन्दर पासवान, अरूण पासवान, जदयू नेत्री ईशा देवी, रीना देवी, बिभा कुमारी,राजीव पासवान, अमित पासवान, सरोज पासवान, विजय पासवान, जितेन्द्र पासवान, दीपक कुमार, हरिवंश कुमार, अभिषेक कुमार, वार्ड सदस्या सुशीला देवी,अनोज कृष्ण,चिराग व बिक्रम कुमार आदि दर्जनों गणमान्य लोग उपस्थित थे